गुरुग्राम बिल्डिंग के हादसे में 54 घंटे तक मलबे दबा रहा महिला का शव, पति अस्पताल में भर्ती

हादसे में दो लोगों की मौत हुई है. पुलिस ने चिंटेल ग्रुप के एमडी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. गुरुग्राम जिला प्रशासन ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है.

137
image source-google

गुरुग्राम: गुरुग्राम के सेक्टर 109 में चिंटेल पैरादिजो सोसाइटी में हुए हादसे में मलबे में दबी महिला के शव को 54 घंटे बाद बाहर निकाला गया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि मलबे के नीचे मिली सुनीता श्रीवास्तव के शव को शनिवार रात साढ़े 11 बजे बचाव दल ने बाहर निकाला. वहीं महिला के पति अरुण श्रीवास्तव का पैर भी मलबे में फंस गया था. लेकिन अरुण को घटना के 16 घंटे बाद निकाला गया. अभी वह अस्पताल में भर्ती है.

बता दें कि गुरुवार को सोसाइटी के 12 मंजिल वाले डी टावर में 6वें फ्लोर पर निर्माण कार्य चल रहा था,तभी अचानक डाइनिंग का 40-50 स्क्वायर फीट एरिया पहली मंजिल तक आ गिरा. हादसे में दो लोगों की मौत हुई है. पुलिस ने चिंटेल ग्रुप के एमडी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. गुरुग्राम जिला प्रशासन ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है.

input: ndtvindia