आईएसएमपी का 7वां अधिवेशन ‘कीर्तिमान’ हुआ सम्पन्न।इस अवसर पर पत्रकार, साहित्यकार, समाजसेवियों को किया सम्मानित ।

12

वर्धा: इंटलेक्चुअल सोसायटी ऑफ मीडिया प्रमोटर्स (आयएसएमपी) का सातवां वार्षिक अधिवेशन ‘कीर्तिमान’ का आयोजन 10 जनवरी को सांगली में किया गया। अधिवेशन में साहित्यकार , पत्रकार और समाजसेवियों को प्रेस विरासत सम्मान, स्वतंत्र, निष्पक्ष, निडर पत्रकारिता सम्मान, समाज रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। अधिवेशन में प्रेस विरासत के चरित्र क्या युवा कलमकारों की भूमिका तय कर पायेंगे विषय पर डॉ. शाहिद अली ने, सोशल मीडिया की लोकहित एवं स्वच्छ मनोरंजन के प्रति जवाबदेही विषय पर एड. नीलकंठ हूड ने, अहिंदी भाषियों के बीच हिंदी के प्रति

रुचि कैसे बढ़े विषय पर महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा के जनसंपर्क अधिकारी बी एस मिरगे ने, लुप्त होती हिंदी साहित्य की मूल हस्तलिखित पांडुलिपियां और रचनाकार का संरक्षण विषय पर सांगली की साइकोलॉजिस्ट व समाजसेवी अर्चना दादासाहेब मुळे ने, अनुसंधान में विषय विवेचना की समझ ही सफल शोध की कुंजी है विषय पर राजीव गांधी विवि दोईमुख के असि. प्रो. डॉ. राजीव रंजन प्रसाद ने, नागरिक पत्रकारिता पर डॉ . बाबासाहेब आंबेडकर मराठवाड़ा विवि के डॉ. संजय पाईकराव ने, मिडिया शिक्षा में रोज़गार विषय पर देवेन्द्र प्रजापती ने, पर्यावरण जागरूकता पर तहसीलदार असगर अली ने तथा स्वयंसेवी विकास पर रवीन्द्र इनामदार ने अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर ‘नाट्य कला’ विषयक स्मारिका का विमोचन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन सांगली में शांतिनिकेतन लोकविद्यापीठ के सभागार में किया गया जिसमें नवभारत शिक्षण मंडल शांतिनिकेतन लोकविद्यापीठ के अध्यक्ष गौतम पाटिल ने सहयोग दिया। कार्यक्रम का प्रारंभ अगस्त क्रांति स्मारक पर नमन और वाक् स्वतंत्रता की शपथ से किया गया। संस्थान का परिचय महाराष्ट्र आईएसएमपी के चेयरमैन कौशल मिश्र ने दिया तथा अधिवेशन की अवधारणा आईएसएमपी के संस्थापक और चेयरमैन चंद्रशेखर ने रखी। अधिवेशन में वर्धा से कौशल मिश्र, एड. नीलकंठ हुड, सेवा निवृत्त मेडिकल ऑफिसर डॉ. वसीम कुरेशी, एड. ताम्रध्वज बोरकर, नीलिमा मुणोत, नीलिमा निखार, यशवन्त भांडेकर, सुधीर बावनकर, राजकुमार पांडे, प्रगति मिरगे, अमिता शिंदे, अन्वेश, उज्ज्वला भांडेकर, गीता मिश्रा, करुणा भिसे कुरेशी, रंजना हूड,संभाजीनगर से संपादक नारायणपुरकर वाई. के. और डॉ. संजय पाईकराव, मुंबई से भोजपुरी फिल्म निर्माता लालजी गुप्ता, मुंबई की वरिष्ठ लेखिका, कवियत्री कांचन प्रकाश संगीत, देवेन्द्र प्रजापति (लखनऊ), कोल्हापुर से एन एन क़ाज़ी, सातारा से विजय देशपांडे, अनुबोध के संपादक मिलिंद प्रधान, डॉ . पूजा हेमकुमार अलापुरिया सहित गणमान्य अतिथि, पत्रकार और समाजसेवी शामिल हुए। अधिवेशन के दूसरे दिन 11 जनवरी को कोल्हापुर में छत्रपति शाहूजी महाराज की जन्मस्थली, संगीत सूर्य केशवराव भोसले नाट्य गृह के साथ कोल्हापुर के दर्शनीय स्थलों को भेंट दी गई। कोल्हापुर के पीटर चौधरी ने ऐतिहासिक स्थलों की जानकारी प्रदान की।‌ कोल्हापुर में सभी का अमर सरनाइक ने स्वागत किया।‌

इस दौरान स्वतंत्रता सेनानी निजामुद्दीन क़ाज़ी सद्भावना केंद्र कोल्हापुर व्दारा आयोजित कार्यक्रम में सभी ने शिरकत की। इस वर्ष का निजामुद्दीन क़ाज़ी सद्भावना पुरस्कार लोकमत कोल्हापुर के संपादक वसंत आप्पा साहेब भोसले को कोल्हापुर की विधायक जयश्री जाधव के हाथों प्रदान किया गया। अधिवेशन के सफल आयोजन के लिए आईएसएमपी के चैयरमेन चंद्रशेखर ने सभी के प्रति आभार ज्ञापित किया।