राजस्थान के डीजीपी ने हरियाणा डीजीपी और दिल्ली पुलिस कमीश्नर को लिखी चिट्ठी, ऑडियो टेप की जांच में सहयोग की अपील

0 14

जयपुर। राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच टेप कांड की गूंज अब हरियाणा और दिल्ली तक सुनाई देने लगी है। राजस्थान के डीजीपी भूपेंद्र यादव ने हरियाणा के डीजीपी और दिल्ली के पुलिस कमीश्नर को चिट्ठी लिखकर स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की जांच में सहयोग करने की अपील की है।
आपको बता दें कि सचिन पायलट ग्रुप के 18 बागी विधायक हरियाणा में एक होटल में रुके हुए हैं। इन्हीं में से कुछ विधायकों और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर अशोक गहलोत की नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया गया है।
हरियाणा के नूंह जिले के हसनपुर-पाड़ा गांव की जमीन में बने बेस्ट वेस्टर्न रिसॉर्ट कंट्री क्लब में राजस्थान कांग्रेस के बागी विधायक रविवार को फिर वापस लौट आए। हालांकि, विधायकों के पहुंचने की खबर के बाद देर रात राजस्थान की एसओजी पुलिस भी कंट्री क्लब पहुंच गई। करीब 15 मिनट कंट्री क्लब के बाहर रुकने के बाद पुलिस वापस चली गई।
एसओजी की टीम तीन गाड़ियां में थी। राजस्थान एसओजी की विकास शर्मा के नेतृत्व में पहुंची थी। सूत्रों के मुताबिक इस समय बेस्ट वेस्टर्न रिसॉर्ट कंट्री क्लब में तकरीबन 20 विधायक रुके हुए हैं। रविवार को कंट्री क्लब के पिछले वाले गेट से राजस्थान के विधायकों ने प्रवेश किया था।
राजस्थान की राजनीतिक लड़ाई ऑडियो टेप सामने के आने के बाद और तेज हो गई है। इस टेप में संजय जैन का नाम प्रमुखता से सामने आ रहा है। जानकारी के मुताबिक ऑडियो टेप का ये सूत्रधार संजय जैन बीकानेर जिले के लूणकरनसर का रहने वाला है। ये शख्स कई साल से नेताओं और अफसरों को साधने का माहिर खिलाड़ी रहा है। संजय के लीक हुए ऑडियो से इसके इलाके के हर व्यक्ति हैरान हैं।
लोग बताते हैं कि संजय कुछ साल पहले बीकानेर में तैनात रहे एक आइपीएस से नजदीक बढ़ाने में कामयाब हुआ। इसके बाद कांग्रेस और बीजेपी नेताओं से जयपुर-दिल्ली में मिलना और काम निकलवाने के लिए जाना-जाने लगा। वह पैसे के अलावा हर तरह के प्रलोभन देकर अफसरों और नेताओं को साधने की कोशिश करता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.