चीन का फिर नया पैंतरा, फिंगर 2 से पीछे हटने के लिए रखी शर्त

22

नई दिल्ली : पेंगोंग लेक इलाके में पीछे हटने को लेकर चीन ने न सिर्फ अड़ियल रुख अपनाया हुआ है बल्कि अब उसने पहले भारतीय सेना के फिंगर-2 से पीछे हटने की शर्त रख दी है। भारतीय पक्ष इसे मानने को तैयार नहीं है। अभी चीनी सेना फिंगर-5 से लेकर फिंगर-8 तक के इलाके में डटी हुई है जबकि भारतीय सेना फिंगर-4 के करीब है।
चीनी सेना फिंगर-4 तक आ गई थी और दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने की स्थिति में आ चुके थे। सैन्य कमांडरों की वार्ताओं में बनी सहमति के बाद जुलाई में चीनी सेना फिंगर-4 समेत कई स्थानों से पीछे हटी थी। वह फिंगर-4 से लेकर फिंगर-5 तक ही पीछे हटी जबकि फिंगर 8 तक का इलाका भारत का है।
पूरे फिंगर क्षेत्र को बफर जोन बनाने की कोशिश में
सूत्रों का कहना है कि इस मामले में चीन की नई शर्त से मुश्किल पैदा हो रही है। चीन चाहता है कि भारतीय सेना पहले फिंगर-2 तक पीछे हटे। चीन की कोशिश है कि पूरे फिंगर क्षेत्र को बफर जोन बना दिया जाए, जहां किसी देश की सेना न रहे। भारतीय सेना फिंगर-2 तक हमेशा मौजूद रही है तथा फिंगर आठ तक वह नियमित रूप से गश्त करती रही है। यह क्षेत्र करीब सात-आठ किलोमीटर का है। सरकारी सूत्रों ने कहा कि चीन के इस कदम के पीछे फिंगर क्षेत्र को विवादित क्षेत्र घोषित करने की रणनीति हो सकती है, जिसे कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता।
टकराव की स्थिति
सैन्य कमांडरों की रविवार को हुई बैठक में चीन के इसी रुख के चलते टकराव की स्थिति बनी रही और किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सका। सूत्रों के अनुसार भारतीय पक्ष चाहता है कि चीन अप्रैल की स्थिति बहाल करे, जिसमें उसे फिंगर-8 से पीछे हटना पड़ेगा। जब वह हट जाएगा उसके बाद भारत फिंगर-2 पर अपनी पुरानी स्थिति में लौट सकता है, लेकिन उससे पीछे नहीं हटेगा। दूसरे, वह पूर्व की भांति फिंगर आठ तक अपनी पेट्रोलिंग जारी रखेगा, लेकिन चीनी सेना इसके लिए तैयार नहीं है।