पीएम पैकेज से एक पैसा भी बिहार को नहीं मिला और चुनाव आते ही घोषणाओं का सिलसिला शुरू: गोहिल

16

पटना : बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि कांग्रेस खुदगर्जी की नहीं बल्कि सेवा की राजनीति करती है। कहा कि एक दौर था जब बिहार की शुगर और राइस मिलें पूरे देश को चीनी और चावल देती थीं।
समस्तीपुर के पार्टी के बिहार क्रांति वर्चुअल सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मुंबई के आरटीआई कार्यकर्ता की आरटीआई से खुलासा हुआ है कि पीएम के सवा लाख करोड़ के पैकेज में एक पैसा भी बिहार को नहीं मिला। अब चुनाव आते ही फिर पीएम की घोषणाओं का सिलसिला शुरू हो गया है।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस बार अपने सहयोगियों संग सत्ता में आई तो बिहार को बाढ़ और सुखाड़ के जंजाल से निकालने को जल प्रबंधन करेगी। किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य दिलाएगी। उन्होंने कहा कि यदि प्रधानमंत्री अच्छा काम कर रहे हैं तो देश में कोरोना बेलगाम कैसे हुआ और हजारों लोगों की मृत्यु कैसे हो गई।
ध्रुवीकरण की राजनीति को नकारता है बिहार: तारिक
नवनिर्वाचित कांग्रेस महासचिव तारिक अनवर ने कहा कि बिहार में 15 साल में बहुत कुछ किया जा सकता था लेकिन नहीं हुआ। बिहार अब बदलाव चाहता है। महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सुष्मिता देव ने सरकार पर जननी सुरक्षा और छात्रवृत्ति घोटाला करने का आरोप लगाते हुए महिलाओं से अपील की कि बिहार सरकार को उखाड़ फेंकिये। राष्ट्रीय प्रवक्ता डा. रागिनी नायक ने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार के झूठ को बेनकाब करने की जरूरत है। संचालन करते हुए प्रभारी सचिव अजय कपूर ने कहा कि इस बार बिहार की जनता बदलाव का मन बना चुकी है।
सरकार ने की समस्तीपुर की उपेक्षा: मदन
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा ने कहा कि समस्तीपुर जिले और आसपास के इलाके की बिहार की वर्तमान सरकार ने उपेक्षा की है। कहा कि इस बार बिहार की जनता इस सरकार को सबक सिखाने का काम करेगी। चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष डा. अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य और उद्योग में बिहार पूरे देश में सबसे निचले पायदान पर है। कार्यकारी अध्यक्ष अशोक राम ने कहा कि समस्तीपुर में कांग्रेस मजबूती से चुनाव लड़ेगी और पहले से बेहतर स्थिति में रहेगी। कार्यकारी अध्यक्ष समीर कुमार सिंह व श्याम सुंदर सिंह धीरज, संगठन महासचिव ब्रजेश पांडे, अवधेश सिंह, प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौड़, इंटक अध्यक्ष चंद्र प्रकाश सिंह, आनंद माधब आदि मंचासीन रहे।