रमजान में रोजे एवं इबादत की बदौलत करोना महामारी से मिलेगी मुक्ति : दुआओं के दौर से गुजर रहा है देश हमारा

8

रमजान के पवित्र महीने मैं मुस्लिम भाइयों की इबादत को देखते हुए अखिल भारतीय संत एकता आंदोलन परिषद एवं गुरु गोरक्षनाथ मानव कल्याण संस्थानम कपूरथला पंजाब के परमाध्यक्ष महंत कैलाशनाथ हठयोगी ने एक बयान जारी कर कहा कि रमजान के पवित्र महीने के दौरान देश भर के मुस्लिम भाई-बहनों की दुआओं के बदौलत इस महामारी से देश समाज संसार संस्कृति राजनीति को मुक्ति एवम शुद्धता अवश्य मिलेगी शुद्ध मन भावना से दुआ प्रार्थना परमेश्वर जल्दी स्वीकार करते हैं संसार के प्रत्येक प्राणी करोना महामारी संक्रमण से बेहद परेशान है भाव एवं समर्पण से अल्लाह परमेश्वर प्रसन्न होते हैं भाषा एवं भाषणों से नहीं।

मेरा मानना है कि परमात्मा अपने भक्तों की प्रार्थना को स्वीकार करते हुए महामारी से अभयदान देंगे।

महंत का मानना है कि करोना महामारी संक्रमण राजनीतिक महत्वकांक्षी राजनीतिक लोगों के विचारों की ही देन है जब तक राजनेता एवम राजनीतिक दल पँचशील सिधान्तो एवम पंचतत्वों के प्रति समर्पित भाव से सकारात्मक सोच रखते हुए कार्य नही करेंगे तब तक करोना महामारी जैसे सुनियोजित प्रायोजित कृत्रिम बीमारिया उतपन्न होती रहेंगी देश समाज को अच्छा स्वास्थ्य शिक्षा संस्कार देना चाहिए भाषण आलोचना बदले की भावना करने से देश समाज की समस्याएं हल नहीं होती महंत ने सभी धर्म परायण जनमानस से अनुरोध किया है कि अपने-अपने परंपरा मान्यताओं के अनुसार करोना महामारी से मुक्ति के लिए प्रार्थना पूजा-अर्चना हवन आदि करें जिससे देश समाज संसार के लोगों को सुख शांति समृद्धि प्राप्त हो, केंद्र सरकार को चाहिए कि इस महामारी में प्रशासन की भूमिका को चुस्त दुरुस्त कर राष्ट्रीय आपदा घोषित कर महामारी के इलाज सम्बंधित संसाधनों की भरपूर मात्रा में आपूर्ति करे,ऑक्सिजन लाने लेजाने के लिए वायु सेना बल का सहयोग ले, सारे संसाधनों के होने के बावजूद भी समय पर ऑक्सिजन एवम दवाओं का न पहुचना यह बहुत बड़ी लापरवाही है जिसे देश की जनता समझ रही है कि जिम्मेदार कोन है ?