यह लापरवाही ठीक नहीं, 6 दिन बाद भी नहीं आ रही कोरोना रिपोर्ट

16

स्वास्थ्य विभाग भले ही कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट जल्दी आने का दावा भले ही कर रहा लेकिन हकीकत कुछ ओर ही है। कोरोना रिपोर्ट छह-सात दिन में आने की जानकारी लगातार सामने आ रही है। ऐसा ही एक मामला बावल में सामने आया है। बावल बिजली निगम कर्मी शुभराम ने पांच मई को कोरोना टेस्ट कराते हुए सैंपल दिए थे लेकिन अभी तक उन्हें रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई।

इस कारण से ना तो उनका उपचार शुरू हो पा रहा है ना ही यह समझ पा रहे कि कब तक होम आइसोलेशन में रहें। बिजली कर्मी शुभराम ने बताया कि उसने पांच मई को टांकड़ी पीएचसी में सैंपल दिया था, उसके मोबाइल पर मैसेज भी आया कि सैंपल सिविल सर्जन ऑफिस भेज दिया गया है।

इसके बाद से अभी तक रिपोर्ट का कोई मैसेज नहीं आया ना ही पीएचसी कर्मी कुछ बोल रहे हैं। शुभराम ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की इसी कार्यप्रणाली के चलते लोग जांच करवाने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। सिविल सर्जन ऑफिस में जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि चैक करके ही पता चलेगा कि आखिरकार क्या मामला है।