5 बेटों में से कोई साथ रखने को तैयार नहीं, बुजुर्ग मां ने कराई FIR, 3 गिरफ्तार

21

राजगढ़ कहते हैं कि संतान मां बाप के बुढ़ापे का सहारा होती है। लेकिन हैरानी की बात है कि एक बुजुर्ग मां पति की मौत के बाद 5 नौजवान बेटे होने के बावजूद भी दर दर भटकने को मजबूर है। उसे कोई भी बेटा अपने साथ नहीं रखना चाहता। आखिर में मां ने पुलिस की शरण ली और अपने पांचों बेटों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। बेहद अजीबोगरीब यह मामला मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले से सामने आया है। महिला की शिकायत पर पुलिस ने तीन बेटों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, दो की तलाश अभी जारी है।

बुजुर्ग रामकुंवर बाई राजगढ़ जिले के देवाखेड़ी गांव की रहने वाली है। वह घर में अकेली रहती है। पति की मौत हो गई है। उसके पांच बेटे हैं, जो शादी के बाद अलग हो गए हैं। लेकिन कोई भी अपनी बुजुर्ग मां को अपने साथ रखने को तैयार नहीं है। ऐसे में बुढ़ापे में उसके पास कोई रास्ता नहीं है। बेबस होकर रामकुंवर बाई खिलचीपुर थाने पहुंची हैं। पुलिसकर्मियों से अपनी व्यथा सुनाई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए राजगढ़ एसपी प्रदीप शर्मा ने पांचों बेटों को बुलाकर समझाइश दी। मगर कोई समझने को तैयार नहीं हुआ। सभी बेटों ने मां को अपने साथ रखने से मना कर दिया। इसके बाद एसपी ने स्वंय स्थानीय थाने को पांचों बेटों के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया है। एसपी के आदेश पर खिलचीपुर थाने ने बुजुर्ग महिला के बेटों हिम्मत सिंह, राजेंद्र सिंह, धीरज सिंह, शंकर सिंह और रमेश सिंह पर मामला दर्ज किया है। इनमें से राजेंद्र सिंह, हिम्मत सिंह और रमेश सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, दो अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। इनके खिलाफ पुलिस ने वरिष्ठ नागरिक देखभाल अधिनियम की धारा 24 के तहत मामला दर्ज किया है।