मुख्यमंत्री उड़नदस्ते की टीम ने फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़, फरीदाबाद में बैठकर अमेरिकी नागरिकों से कर रहे थे ठगी

10

फरीदाबाद : पापअप भेजकर कंप्यूटर सिक्योरिटी के नाम पर अमेरिकी नागरिकों से धोखाधड़ी करने वाले एक काल सेंटर का मुख्यमंत्री उड़नदस्ते की गुरुग्राम टीम ने भंडाफोड़ किया है। सेक्टर-31 स्थित एसआरएस बिजनेस टावर से चार लोगों को गिरफ्तार किया है।

इनमें एसजीएम नगर निवासी गुरिंदर सिंह, आइपी एक्सटेंशन दिल्ली निवासी ईशान चौधरी, ग्रीन फील्ड कालोनी निवासी विशाल और गुरुग्राम निवासी अंकुश शामिल हैं। आरोपितों के पास से एक लैपटाप, दो हार्ड डिस्क, तीन मोबाइल व एक लाख 13 हजार रुपये बरामद किए गए हैं। डीएसपी इंद्रजीत सिंह के नेतृत्व में टीम ने यह कार्रवाई की। जब टीम मौके पर पहुंची तो 20 लड़के और दो लड़कियां हेडफोन लगाकर बात कर रहे थे। सभी के सामने कंप्यूटर सिस्टम रखे थे।

काल सेंटर मालिक गुरिंदर से टीम ने डाट लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट सहित अन्य कागजात मांंगे तो वे कुछ भी नहीं दिखा पाए। इस पर टीम ने गुरिंदर व उसके साथियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों ने ग्लेबल टेक लाइफ नाम से काल सेंटर बनाया हुआ था। यह बिल्डिंग उन्होंने एक लाख छह हजार रुपये महीने के किराए पर ली थी।

अमेरिकी नागरिकों को ये कंप्यूटर में पापअप भेजकर सुरक्षा का झांसा देते थे। इसके बाद गिफ्ट कार्ड के जरिये 100 से 500 अमेरिकी डालर की धनराशि प्राप्त करते थे।

आरोपितों ने बताया कि वे पहले दिल्ली में काल सेंटर चलाते थे, मगर वहां उन्हें सेंटर बंद करना पड़ा। यहां मार्च में ही उन्होंने काल सेंटर खोला था। आरोपितों के खिलाफ सेक्टर-31 और साइबर अपराध थाने में मुकदमे दर्ज कराए गए हैं।