ग्राम समाज की जमीन पर कब्जे विवाद को सुलझाने पहुंची पुलिस ने महिला को जड़ा थप्पड़, फिर ग्रामीण

9

जौनपुर : उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ ने सरकार बनते ही सरकारी मजीन को अवैध कब्जे से मुक्त कराने का निर्देश दिया है। जिसके तहत प्रदेश भर में प्रशासन और पुलिस ने इस पर अमल किया और अधिकतर जमीनों को खाली करा दिया। इसके बावजूद कुछ सरकारी जमीने दबंगों के कब्जे में है। इसी बीच जौनपुर के सरपतहां इलाके के ग़ैरवाह में ग्राम समाज की जमीन पर कब्जे के विवाद में मारपीट के दौरान जमकर ईंट-पत्थर चले। बीचबचाव में पहुंची पुलिस को भी लोगों ने घेर लिया। स्थिति पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। पुलिस ने आज यहां कहा कि गैरवाह गांव निवासी ननकू यादव, नरसिंह यादव और जमींदार राजभर के बीच जमीन को लेकर वर्षों से विवाद चल रहा है। विवादित जमीन पर कब्जे को लेकर दो जून को भी दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ था। ग्रामीणों के हस्तक्षेप से मामला शांत हुआ। रविवार की शाम फिर इसी बात को लेकर ये लोग आमने-सामने हो गए। जानकारी होने पर सरपतहां थाने की पुलिस आ गई। आरोप है कि सुलह-समझौता कराने के दौरान एसआई ने सविता राजभर को थप्पड़ जड़ दिया, जिससे वो कुछ देर के लिए अचेत हो गईं। इसे लेकर ग्रामीण पुलिस पर पैसे लेकर एक-दूसरे की मदद का आरोप लगाते हुए ईंट-पत्थर फेंकने लगे। भगदड़ में तीन पुलिस कर्मी घायल हो गए।