पोर्टल पर बुकिंग डिटेल्स करनी होगी अपडेटस, अब स्पीड पोस्ट के माध्यम से हो सकेगा अस्थि विसर्जन

22

सिरसा : कोरोना काल में जिन लोगो के परिजनों की मौत हुई और वे किसी कारण वंश हरिद्वार में अस्थिया विसर्जन नहीं कर पाए उनके लिए डाक विभाग ने पहल  शुरू की है। । डाक विभाग अस्थि कलश को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने का कार्य करेगा साथ ही अस्थि कलश   गंगा में पुरे विधिविधान से विसर्जित करेगा । गौरतलब है कि व्यक्ति अपनी इच्छा अनुसार मृतक का अस्थि कलश वाराणसी, प्रयागराज, हरिद्वार में विसर्जित करवा सकता है। दरअसल, काेराेना काल में कुछ लाेग अस्थियाें काे विसर्जन करने के लिए हरिद्वार और  अन्य स्थानाें पर नहीं जा पा रहे थे। सिरसा के शिवपुरी शमशान घाट में भी कई लाेगाें की अस्थियां रखी गई हैं। कोरोना काल के दौर में कई लोगों ने न केवल अपने प्रियजनों को खो दिया, बल्कि उनका विधिवत अंतिम संस्कार भी नहीं कर पाए। हिन्दू धर्म में पवित्र गंगा नदी में अस्थि विसर्जन की परम्परा रही है। इसके लिए लोग वाराणसी, प्रयागराज, हरिद्वार एवं गया में अस्थि विसर्जन और श्राद्ध कर्मकांड करके मृतात्माओं को शांति दिलाते हैं।

उनकी इस परेशानी को देखते हुए कोविड महामारी के इस दौर में अब डाक विभाग ने  ऐसे लोगों के लिए पहल की है। अब अस्थियां डाकघरों से स्पीड पोस्ट के माध्यम से इन जगहों पर भेजी जा सकेंगीं, जिनका विधिवत विधिविधान से संपन्न किया जायेगा। अस्थि पैकेट को अच्छी तरह से पैक कर इस पर  पैकेट पर प्रेषक अपना पूर्ण नाम, पता, मोबाइल नंबर इत्यादि लिखेगा ताकि अस्थियो की पहचान ठीक से हो सके सिरसा डाक घर के पोस्ट मास्टर नवीन कुमार ने बताया कि कोरोना काल में जिन लोगो के परिवार जानो की मौत हो गई थी और वे किसी कारन से उनकी अस्थिया विसर्जन करने नहीं जा पा रहे इसी  को देखते हुए डाक विभाग की ओर  से पहल करते हुए स्पीड पोस्ट के माधयम से अस्थि विसर्जन सेवा शुरू की गई है | नवीन कुमार ने बताया  कि स्पीड पोस्ट से हरिद्वार पहुंची अस्थियो को पुरे विधिविधान के साथ अस्थियो को विसर्जित किया जायेगा |