गांव नीमका में किसान संघर्ष समिति नहरपार फरीदाबाद की मीटिंग संपन्न

17

फरीदाबाद : [ मामेन्द्र कुमार ] किसान संघर्ष समिति नहरपार फरीदाबाद की मीटिंग गांव नीमका में पूर्व सरपंच जगबीर सिंह के मकान पर वरिष्ठ नागरिक धर्मपाल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसका संचालन समिति के संयोजक सत्यपाल नरवत ने किया। जिसमें मुख्य रुप से गांव बुढ़ेना से बाबू, फरीदपुर से परमानंद, खेड़ी खुर्द से उदयवीर नंबरदार, खेड़ी कला से प्रकाश नरवत, चंद्रसिंह बादशाहपुर से अरुण त्यागी पलवली से मास्टर राजकुमार, विजेंदर, नीमका से उमेद सिंह, जुंगला नंबरदार, राजवीर पूर्व सरपंच, हरिचंद, मिर्जापुर से भूप सिंह, हरपाल बडोली से धीरज, भतोला से किरणपाल, रिवाजपुर से विजयपाल तथा और भी कई सदस्यों ने मीटिंग में भाग लिया। मीटिंग का एजेंडा था हाईकोर्ट के फैसले का मुआवजा प्रतिवर्ष मिलने वाली रॉयल्टी, प्लाट के लिए जमा की गई अग्रिम राशि ₹50000/ वापस लेना एवं प्रधान तथा उप प्रधान की मृत्यु उपरांत खाली हुए पदों को पुनः भरना एजेंडे पर सभी गांव के प्रतिनिधियों ने अपने-अपने विचार रखे सभी ने संगठन को मजबूत करने का सुझाव दिया और मजबूती से अपनी मांगों को मनवाने के लिए प्रशासन से एवं स्थानीय विधायक तथा केंद्रीय मंत्री से बातचीत की जाए मीटिंग को संबोधित करते हुए समिति के संयोजक सत्यपाल नरवत ने बताया कि अभी सरकार की तरफ हुडा ऑफिस में मुआवजा जारी करने के कोई आदेश नहीं आए हैं। अभी किसानों को भूमि अर्जन अधिकारी के कार्यालय में फाइल जमा करनी है जिसमें हाईकोर्ट के फैसले की नकल शार्ट ऑर्डर की कॉपी के साथ साथ पैन नंबर, आधार कार्ड और बैंक खाता नंबर देना है जिन गांवों की रॉयल्टी नहीं आई है उनके बारे में हुड्डा ऑफिस जाकर के पता करेंगे। कुछ किसानों ने अपने पिताजी की मृत्यु के बाद कानूनी उत्तराधिकारी सर्टिफिकेट और नया बैंक खाता नंबर ठीक नहीं कराया है जिस कारण उनकी रॉयल्टी नहीं आई है प्लाट की अग्रिम राशि ₹50000/- वापस लेने के लिए संपदा अधिकारी के कार्यालय में दस्तावेज सहित अर्जी लगाएंl किसान संघर्ष समिति नहरपार फरीदाबाद के पुनर्गठन एवं खाली पदों को भरने के लिए 4 जुलाई रविवार को गांव बडोली में मीटिंग रखी गई है।