बिलावल ने बलूचिस्तान विधानसभा हिंसा को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, कहा- विचारों और सहनशीलता से हो विरोध

9

पेशावर : पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो-जरदारी ने बलूचिस्तान विधानसभा के अंदर और बाहर हिंसा की घटना की निंदा करते हुए इसे बेहद दुर्भाग्यपूर्ण  बताया। पीपीपी अध्यक्ष ने अपने ट्वीट में लिखा कि बलूचिस्तान विधानसभा के अंदर और बाहर हिंसा के दृश्य बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि राजनेताओं और उनके समर्थकों को हिंसा के बजाय अपने विचारों के बल पर एक-दूसरे का विरोध करने की सहनशीलता रखनी चाहिए।”

इस घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए बिलावल ने कहा कि बलूचिस्तान विधानसभा में बजट सत्र दौरान हुई हिंसा शर्मनाक और निंदनीय है। इससे पता चलता है कि घटना के जिम्मेदार लोगों में सहनशीलता व विचारशीलती की कितनी कमी है। बता दें कि शुक्रवार को पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में असेंबली के बाहर  विपक्षी नेताओं ने मुख्यमंत्री जाम कमाल को  घेर लिया और उन पर जूते- चप्पल बरसाने शुरू कर दिए। असेंबली में विपक्ष के सदस्यों  ने  उनपर  की बोतलें फेंककर मारी व जमकर हंगामा किया जिस कारण  मुख्यमंत्री को असेंबली के अंदर जाने के लिए दूसरे रास्ते का इस्तेमाल करना पड़ा।

बलूचिस्तान असेंबली में  बजट सत्र के दौरान धरना प्रदर्शन कर रहे  विपक्ष के सदस्यों ने पूरे सदन को घेर लिया और सभी दरवाजों को बाहर से बंद कर दिया। इसके बाद उन्होंने जमकर नारेबाजी की। इस दौरान जब राज्य के मुख्यमंत्री जाम कमाल पहुंचे तो विपक्ष के सदस्य हाथापाई पर उतर आए।  उनके चारों तरफ सुरक्षा का कड़ा घेरा था, जिसके बाद उन्होंने पानी की बोतलें फेंकनी शुरू कर दी और हंगामा मचा दिया। इस बीच की सदस्यों ने उनपर जूते चप्पल  फेंके व आपत्तिजनक टिप्पणियां भी कीं।