‘हर घर जल’ योजना से ग्रामीण क्षेत्रों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने का लक्ष्यः CM योगी

10

लखनऊ :  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत संचालित की जा रही ‘हर घर जल’ योजना से ग्रामीण आबादी को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने का लक्ष्य हासिल होगा। योगी ने बुधवार को हर घल जल योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि यह योजना सरकार की प्राथमिकता है। इससे ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने का केन्द्र व राज्य सरकार का लक्ष्य हासिल होगा। जन स्वास्थ्य को हासिल करने में स्वच्छ पेयजल की महती भूमिका है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न जिलों में ‘हर घर जल’ योजना के तहत संचालित किये जा रहे सभी कार्यों को समय से पूरा कर जनता को लाभान्वित किया जाए। साथ ही, योजना के तहत किये गये कार्यों की प्रगति रिपोर्ट समय से अपलोड की जाए और प्रोजेक्ट का थर्ड पार्टी आडिट भी कराया जाए। उन्होने कहा कि इस योजना के तहत घरों तक जल पहुंचाने के लिए बिछायी जाने वाली पाइप लाइन का कार्य शीघ्रता से पूरा किया जाए और लोगों को कनेक्शन देने की कार्यवाही की जाए। पाइप की क्वालिटी पर कोई समझौता न किया जाए।

उन्होंने अगले दो महीने में 50 लाख कनेक्शन देने की दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्धारित लक्ष्यों को समयबद्धता के साथ हासिल किया जाए। उन्होंने मुख्य सचिव स्तर पर इस योजना की साप्ताहिक समीक्षा किये जाने के भी निर्देश दिए। प्रमुख सचिव नमामि गंगे एवं ग्रामीण जल आपूर्ति अनुराग श्रीवास्तव ने 12 मार्च के बाद निर्माण कार्य सम्बन्धी लक्ष्यों का विवरण देते हुये कहा कि इन लक्ष्यों में 38 हजार नये ग्रामों की डीपीआर बनाना, बुन्देलखण्ड एवं विन्ध्य क्षेत्रों के कार्यों की प्रगति, जल निगम द्वारा रेट्रो फिटिंग, निर्माणाधीन पेयजल योजनाओं को पूर्ण कराना इत्यादि शामिल हैं। उन्होंने ‘हर घर जल’ योजना के तहत प्रदेश की कार्ययोजना के विषय में भी विस्तार से जानकारी दी।