डबुआ में बनेगा ऑक्सीवन विधायक नीरज शर्मा एनआईटी में हरियाली के लिए दृढ़ संकल्प

25

फरीदाबाद : [मामेन्द्र कुमार ] एनआईटी 86 के विधायक नीरज शर्मा ने माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल से सघन बस्ती वाले डबुआ इलाके को हरा भरा करने के संबंध में आग्रह किया था । इस संबंध में एक पत्र वनमंत्री कंवरपाल गुज्जर को भी भेजा गया था। दरअसल डबुआ मंडी के समीप पुनर्वास विभाग की जमीन खाली पड़ी थी जिसे कूढ़े करकट से भरा जा रहा था। इस मामले में संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री के आदेश पर वन सचिव जी अनुपमा ने इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया है। डीएफओ राजकुमार ने विधायक नीरज शर्मा के साथ मौके का मुआयना भी किया है। आशा है कि इस ऑक्सीवन के निर्माण का कार्य जल्द ही शुरू हो जाएगा। विधायक ने जमीनी स्तर की बदतर हालात से वनमंत्री को रूबरू कराते हुए बताया कि डबुआ सब्जी मंडी के साथ पुनर्वास की कई एकड़ जमीन अब कूड़ा घर बन चुका है, जहाँ फैली बदबू से वहाँ के रहने वाले और आसपास के लोगों को भिन्न तरह की बीमारियां हो रही है और कैंसर के मरीजों की संख्या भी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

Nit विधायक ने बताया कि डबुआ में फैली गंदगी की वजह से वायु प्रदूषण का लेवल भी दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। उन्होंने वनमंत्री को याद दिलाया कि इस मामले में उनके द्वारा विधानसभा में प्रश्न संख्या 744 भी लगाया गया था। जिसपर 16 मार्च को हुई चर्चा के दौरान आपके द्वारा पेड़ लगाने का आश्वासन भी दिया गया था। नीरज शर्मा ने कंवरपाल गुज्जर को डबुआ सड़क पर बढ़ते प्रदूषण और कृत्रिम बारिश की संभावना के चलते प्रकृति को होने वाले नुकसान से भी आगाह किया। इसके अलावा उन्होंने बताया कि उनके द्वारा मुख्यमंत्री को भी पत्र लिख कर उपरोक्त खाली स्थानों पर पार्क विकसित करने की बात कहीं गई है। जिसपर मुख्यमंत्री द्वारा भी डबुआ मंडी पुनर्वास विभाग की जमीन पर ऑक्सीवन स्थापित करने बारे में कहा गया है। अतः कोरोना के बढ़े प्रकोप और ऑक्सीजन की किल्लत को याद दिलाते हुए विधायक ने वनमंत्री से उक्त खाली जमीन पर पार्क बनाने और घने वृक्ष लगवाने को लेकर संबंधित विभाग को दिशानिर्देश देने का अनुरोध किया है। उन्होंने सुझाव दिया कि ऐसा करने से हम ऑक्सीजन में बढ़ोतरी के साथ साथ वातावरण को भी शुद्ध रखने में सक्षम हो सकेंगे।