चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर की ताइवान में घुसपैठ

10

जी-7 समूह के सम्मेलन में आक्रमक नीतियों को लेकर फटकार  पर नराजगी जताने के महज एक दिन बाद ही चीन  ने फिर अपना घिनौना रूप दिखा दिया। चीन ने मंगलवार को स्वशासित द्वीप ताइवान की तरफ 28 लड़ाकू विमान भेजे। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया  कि पिछले साल से बीजिंग के लड़ाकू विमान लगभग रोजाना ताइवान की तरफ उड़ान भर रहे हैं और मंगलवार को अब तक सबसे अधिक संख्या में एक ही दिन में ऐसे विमानों ने द्वीप की तरफ उड़ान भरी। रक्षा मंत्रालय ने कहा कि ताइवान की वायु सेना ने तत्काल प्रतिक्रिया देते हुए अपने लड़ाकू वायु दस्ते को तैनात किया और अपनी वायु रक्षा प्रणाली के जरिए द्वीप के दक्षिण-पश्चिम भाग में निगरानी बढ़ाई। उन्होंने कहा कि ताइवान की तरफ आए विमानों में 14 जे-16 और छह जे-11 लड़ाकू विमान शामिल रहे। जी-7 समूह देशों के नेताओं ने रविवार को बयान जारी कर ताइवान जलडमरूमध्य मुद्दे को शांतिपूर्व सुलझाने का आह्वान किया था, जिसके बाद चीन ने अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने मंगलवार को कहा कि जी-7 समूह जानबूझकर चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप कर रहा है।